Share your experience of making an Ecobrick

आज भारत और समूचे विश्व में प्लास्टिक की समस्या दिन प्रतिदिन प्रतिदिन गंभीर होती जा रही है ।सामान्यतः प्लास्टिक को सड़ने या फिर गलने में हजारों साल का समय लग जाता है । गौरतलब है कि प्लास्टिक न सिर्फ हमारे पर्यावरण के लिए हानिकारक है , बल्कि यह हमारे पारिस्थितिकी तंत्र को भी नुकसान पहुंचाता है ।लेकिन वर्तमान में प्लास्टिक कचरे से निजात पाने के लोग भिन्न-भिन्न तरीकों का इस्तेमाल कर रहे हैं। और इन्हीं तरीकों में से एक हैं Ecobrick सिस्टम ।कई स्थानों पर खाली प्लास्टिक की बोतलों का इस्तेमाल निर्माण कार्यों में लिया जाता है जो कि एक अच्छी पहल मानी जा रही है । Ecobrick वह क्रियाकलाप है जिसमें प्लास्टिक की खाली बेकार बोतलों का प्रयोग करके घर गार्डन आज की दीवारें बनाई जाती हैं । प्लास्टिक के इन बोतलों में सूखा कचरा भर दिया जाता है फिर इन्हें संकुचित कर लिया जाता है । ऐसा करने से एक वजनदार उत्पाद तैयार हो जाता है । और फिर इसे बंद करके दीवारों में ईंटों की जगह प्रयोग में लाया जाता है । यह अपेक्षाकृत अधिक मजबूत और टिकाऊ होते हैं।
गौरतलब है कि देश-विदेश मे कचरे के विशाल पहाड़ बन रहे हैं । जिसमें लगभग आधा प्लास्टिक कचरा होता है और होगा भी क्यों नहीं?लोग प्लास्टिक से जुड़ी चीजों को इतना खरीद और बेच रहे हैं, कि आज हम लगभग 2 खरब टन प्लास्टिक उत्पन्न कर चुके हैं। और अभी इसमें प्रतिदिन प्रतिदिन इजाफा होता जा रहा है ।और गंभीर सवाल यह उठता है कि इसको रि-साइकिल या पुनर्चक्रण किस तरह से करके इस्तेमाल में लाया जाए।
प्लास्टिक कचरा के पुनर्चक्रण मे Ecobrick कंस्ट्रक्शन का योगदान सबसे ज्यादा होगा क्योंकि इसकी सहायता से उन सभी चीजों का निर्माण किया जा सकता है जिसका निर्माण हम प्रायः ईट,सीमेंट,कंकरीट, सरिया (रॉड) आदि से करते हैं। इसकी सहायता से मकान,दुकान बनाए जा सकते हैं रेस्टोरेंट्स, पार्क , आदमी के बैठने के लिए सीटिंग प्लेस, बेंच, स्टूल आदि डिजाइन किया जा सकता है। मकान व गार्डन का सुरक्षा घेरा का भी निर्माण किया जाता है । Ecobrick कंस्ट्रक्शन की सहायता से पौधों के लिए सुरक्षा घेरा प्लांट , किसी भी परिसर की सुरक्षा घेरा( बाउंड्री ) आदि को क्रियान्वित किया जा सकता है। बच्चों के क्लासरूम्स व उसमें बैठने के लिए बेंच इसी तरह सिनेमा हॉल व उसमें बैठने के लिए सीटिंग सीट, स्टूल , टेबल आदि को Ecobrick की सहायता से बनाया जा सकता है।
और इस निर्माण की सबसे खास बात यह है कि यह बुलेट प्रूफ,हर मौसम में टिकाऊ, नेचर फ्रेंडली व हमारी एनर्जी सेवर होता है । इस तरह से बनी घर के दीवारों में 9 रिक्टर स्केल स्केल का भूकंप झेलने की क्षमता होती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *